Home कृषि एवम पशु पालन लठ्ठा बनाकर खाने से लेकर शराब बनाने तक के कई तरह के...

लठ्ठा बनाकर खाने से लेकर शराब बनाने तक के कई तरह के काम आता है महुआ। महुआ का सीजन आते ही महुआ चुनने पहुंचते हैं बच्चे एवम वयस्क लोग।

538
0

समस्तीपुर जिला के ग्रामीण इलाकों में महुआ चुनने का काम इन दिनों जोरों से चल रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में आर्थिक उन्नति के लिए महुआ चुनने का काम गरीब घरों के लोग इस काम को करते हैं।
ग्रामीण परिवार महुआ को चुनकर,उसे सुखाकर बेचकर आर्थिक लाभ पा रहे हैं। सुबह से ही महिलाएं,पुरूष और बच्चे महुआ चुनने के लिए जंगल (गाछी) की ओर निकल जाते हैं। इस बार महुआ के पेड़ पर उपज अच्छी होने से कुछ ही समय में कुशल व्यक्ति 15 से 20 किलो महुआ चुनने का काम आसानी से कुछ घंटों में ही हो जा रहा है।इसे बेचने पर दाम अच्छे होने से महुआ चुनने के काम में लगे लोगों को मजदूरी से दोगुना राशि भी मिल जा रही है।
समस्तीपुर जिला के खानपुर प्रखंड क्षेत्र के पुरुषोत्तम पुर अन्नु पंचायत के कोठिया चक्की गांव के कुछ बच्चों के द्वारा महुआ चुनने के दरमियान जब संवाददाता ने बातचीत कर पूछा कि आप इस महुआ का क्या उपयोग करते हो तो बच्चों ने बताया कि वह इसे अपने घर में सुखाकर खाने के काम में इस्तेमाल करते हैं। बच्चों से जब यह पूछा गया कि किस प्रकार महुआ को खाने में इस्तेमाल किया जाता है तो बच्चों ने बताया कि उनकी माताएं इस महुआ को सुखाकर लट्ठा बना कर देती हैं जो खाने में काफी मीठा और स्वादिष्ट होता है। ज्ञात हो कि पूर्व काल में आदिवासी समुदाय के लोग अनाज नहीं मिलने पर महुआ का ही इस्तेमाल खाद्य पदार्थ के रूप में करते रहे हैं।

Previous articleखानपुर प्रखंड क्षेत्र के दिनमनपुर दक्षिणी पंचायत के वार्ड संख्या 3 खराज गांव में समुदायिक भवन की जर्जर हालत एवं अवैध कब्जे से भवन की उपयोगिता का नहीं मिल रहा लाभ।
Next articleबीडीओ के द्वारा किया गया विद्यालयों का औचक निरीक्षण। औचक निरीक्षण में अनुपस्थित पाए गए शिक्षकों पर होगी कार्रवाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here