Home कृषि एवम पशु पालन तिरहुत गंडक नहर परियोजना द्वारा जबरन किसानों के जमीन पर नहर खोदने...

तिरहुत गंडक नहर परियोजना द्वारा जबरन किसानों के जमीन पर नहर खोदने व किसानों को धमकी देने के खिलाफ अनिश्चितकालीन धरना प्रदर्शन में आज तीसरे दिन भी जुटी रही किसानों की भीड़

617
0
तिरहुत गंडक नहर परियोजना में जमीन हड़पने की बात कह परियोजना का विरोध प्रदर्शन करते लोग

समस्तीपुर जिला के पूसा प्रखंड के कुबौली राम पंचायत अंतर्गत मिल्की टोला में अखिल भारतीय किसान महासभा के झंडे बैनर तले तिरहुत गंडक नहर परियोजना मोतीपुर कैंप मुजफ्फरपुर के द्वारा किसानों के जमीन पर जबरन नहर खोदने व किसानों को धमकी देने के खिलाफ अनिश्चितकालीन शांतिपूर्ण धरना शनिवार को तीसरे दिन भी जारी रहा.
मौके पर किसान नेता दिनेश कुमार सिंह की अध्यक्षता में धरनास्थल पर सभा का आयोजन किया गया. सभा को संबोधित करते हुए भाकपा माले जिला राम कुमार,किसान जिला संयोजक ललन कुमार, रविन्द्र सिंह , इनौस के कृष्ण कुमार, मो०अनवर किसान नेता राम ललित सिंह , बासुदेव सिंह,जगदीश सिंह, रामदेव सिंह, , बैजनाथ साह, ओम प्रकाश झा शंकर महतो, खेग्रामस प्रखंड अध्यक्ष मुंशी लाल राय समेत अन्य कई नेता एवं कार्यकर्ता ने संबोधित करते हुए कहा कि 1967 – 68 में तत्कालीन बिहार के मुख्यमंत्री कर्पूरी ठाकुर के द्वारा किसानों के हित को देखते हुए इस नहर परियोजना को मोहम्मदपुर कोठी के पास बुढी गंडक में मिला दिए थे। लेकिन भाजपा जद-यू के सरकार के द्वारा के कारपोरेट घरनो को फायदा पहुंचाने के लिए फिर से इस नहर परियोजना को चालू करना किसानों के साथ अन्याय है। इसके खिलाफ आज से अनिश्चितकालीन धरना जारी रहेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here